Breaking दतिया

स्वास्थ्य सुविधाओं की दृष्टि से दतिया मेडिकल कॉलेज की एक और जन जागरूक जानकारी

कब्ज़ के साथ खून आना गंभीर बिमारी का संकेत है -डा राम प्रताप सिंह बुंदेला

दतिया//इंडियन मेडिकल एसोसिएशन दतिया शाखा ने शहर के होटल मोटल दिनांक 23 नवम्बर को उदर रोगो पर सी एम् ई आयोजित की। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय दतिया के डीन डॉ दिनेश उदेनिया एवं मुख्य अतिथि वक्ता डॉ राम प्रताप सिंह बुंदेला सम्मिलित हुए।शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय दतिया के डीन डॉ उदेनिया ने आइ एम ए दतिया के प्रयासो की सराहना करते हुए उत्साह वर्धन किया।

कार्यक्रम में दीप प्रज्वलित करने के बाद आइ एम ए अध्यक्ष डॉ श्वेता यादव ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा पेट संबंधी समस्याओं के विषय में अधिक जानकारी हेतु इस सी एम ई का आयोजन किया गया है एवं भविष्य में भी आइ एम ए दतिया सामाजिक जिम्मेदारी के साथ ही ज्ञान वर्धन के लिए विभिन्न विषयों के विशेषज्ञो के व्याख्यान का आयोजन समय समय पर किया जाता रहेगा ।

व्याख्यान को संबोधित करते हुए बुंदेलखंड सुपरस्पेशलिटी हॉस्पीटल के संचालक एवं वरिष्ठ गेस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉ राम प्रताप सिंह बुंदेला ने बताया कि आजकल की जीवन शैली की वजह से पेट संबंधी समस्याएं बढ़ रही है नियमित रूप से पेट साफ न हो पाने के कारण कइ हो सकते हैं। जिनमें से मुख्य वजह खाने में फाइबर की कमी एवं व्यायाम का अभाव है, परन्तु थाइराइड की बिमारी में भी कब्ज़ हो सकता है। मल के साथ खून आने पर,अचानक से पेट साफ नहीं होने एवं असहनीय पेट दर्द की स्थिति में तुरंत जांच करवानी चाहिए क्योंकि यह आंत के कैंसर अथवा इंटेस्टाइनल आबस्ट़कन की वजह से हो सकता है जिसका समय पर उचित सर्जरी द्वारा उपचार संभव है।

कार्यक्रम में उपस्थित दतिया के वरिष्ठ चिकित्सको डॉ गुरहा दंपति, डॉ खागर, डॉ प्रदीप उपाध्याय एवं डॉ राजेश गुप्ता को पुष्पहार पहना कर आइ एम ए कार्यकारिणी के सदस्यो ने सम्मानित किया।

कार्यक्रम के अंत में आइ एम ए सचिव डॉ के एम वरुण ने उपस्थित चिकित्सकों को धन्यवाद दिया

सी एम ई  में दतिया सी एम् एच ओ डॉ आर बी कुरेले, सिविल सर्जन डा राठोर, अस्पताल अधीक्षक डॉ के के गुप्ता, सह अधीक्षक डॉ सचिन सिंह यादव, सहायक अधीक्षक एवं आइ एम ए दतिया के मीडिया प्रभारी डॉ हेमंत जैन,बी एम ओ भांडेर डॉ परिहार,आइ एम ए उपाध्याय डॉ मनीष अजमेरिया, संयुक्त सचिव डॉ पुनीत अग्रवाल, सहित मेडिकल कॉलेज तथा जिला चिकित्सालय के लगभग 80 चिकित्सक समिल्लित हुए

स्वास्थ्य सुविधाओं की दृष्टि से दतिया मेडिकल कॉलेज की एक और जन जागरूक जानकारी